विद्यार्थी परिषद ने दोहराया जीत का इतिहास

विद्यार्थी परिषद ने दोहराया जीत का इतिहास

सनातनधर्म राजकीय महाविद्यालय में हुए छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने लगातार दूसरी बार पूरे पैनल पर कब्जा जमाया। चुनाव में एनएसयूआई का सूपड़ा साफ हो गया। उसके दो प्रत्याशी तो तीसरे पायदान पर रहे। छात्रसंघ चुनाव में इस बार त्रिकोणीय संघर्ष था। एबीवीपी और एनएसयूआई के अलावा एसडब्लयूओ ने भी दोनों दलों को कड़ी टक्कर दी। कॉलेज प्रिंसीपल नलिनी यादव ने विजेताओं को पद गोपनीयता की शपथ दिलाई।

जानकारी के अनुसार अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के प्रत्याशी गौरव जैन ने एनएसयूआई के कमलेश नैणिवाल को 307 मतों से पराजित किया। जैन को 911, नैणिवाल को 604 और एसडब्ल्यूओ के सहदेव चौधरी को 371 मत मिले। उपाध्यक्ष पद पर एबीवीपी के कुलदीप सिंह चीता ने एसडब्ल्यूओ के अनिल सीरवी को 554 मतों से हराया। एनएसयूआई के राजेंद्र चौहान को 383 वोट निर्दलीय उम्मीदवार जितेंद्र पटेल को महज 47 वाेट ही मिले। महासचिव पद पर एबीवीपी के प्रकाश चंद मेहरा ने एनएसयूआई के कैलाश लामरोड को 530 मतों से शिकस्त दी। संयुक्त सचिव पद पर एबीवीपी के जयप्रकाश जांगिड़ ने 985 वोट प्राप्त कर एसडब्ल्यूओ की सीमा रावत को 484 मतों से हराया। एनएसयूआई के सुरेश सिंह चारण को 360 वोट मिले।

53प्रतिशत रहा मतदान प्रतिशत…

एसडीकॉलेज में इस बार कुल 3 हजार 742 मतदाताओं को मतदान करना था। इनमें से महज 1 हजार 987 छात्र छात्राओं ने ही मतदान में भाग लिया। कॉलेज परिसर में कड़े सुरक्षा प्रबंधन के बीच मतदान प्रक्रिया सुबह 8 बजे प्रारंभ हुई। दोपहर 2 बजे मतगणना प्रारंभ हुई जो शाम 4.30 बजे तक जारी रही। कॉलेज प्राचार्य नलिनी यादव और मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. पुखराज देपाल एवं अन्य अधिकारियों ने छात्र संघ चुनाव परिणाम की घोषणा की। इस बार मतदान का प्रतिशत 53.09 रहा। जो पिछली बार के मुकाबले करीब 8 प्रतिशत ज्यादा है।

100से ज्यादा मतपत्र खारिज…

चुनावमें मतदान प्रतिशत पिछली बार के मुकाबले ज्यादा रहा। लेकिन चारों पदों के उम्मीदवारों को मिले कुल मतों में से 100 से ज्यादा मतपत्र खारिज हो गए। कॉलेज प्रबंधन के अनुसार अध्यक्ष पद के लिए पड़े कुल 1987 वोट में से 101 मतपत्र खारिज हुए। इसी प्रकार उपाध्यक्ष पद के लिए 135 वोट खारिज हुए। जबकि महासचिव पद के 152 तथा संयुक्त सचिव पद के लिए 141 मत खारिज किए गए।एबीवीपी के प्रत्याशियों की जीत की घोषणा के साथ ही एएसपी जय यादव के नेतृत्व में सिटी थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह नेगी, सदर थाना प्रभारी अनूप सिंह, जवाजा थाना प्रभारी पारसमल, मसूदा थाना प्रभारी भवानी सिंह समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में सभी निर्वाचित पदाधिकारियों को सुरक्षा के बीच घर पहुंचाया गया। पुलिस ने विजयी जुलूस निकालने पर भी रोक लगा दी थी।

छात्रनेताओं ने झोंकी ताकत…

कॉलेजके बाहर चुनावी माहौल परवान पर रहा। एबीवीपी के जिला संगठन मंत्री योगेश दुबे के साथ ही छात्र नेता एवं भाजपा पार्षद नरेश कन्नोजिया, सहजिला प्रमुख विवेक दाधीच, पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह रावत, जिला सह संयोजक भरत मंगल, रवि टांक, गणपत सिंह रावत समेत एबीवीपी के अन्य छात्र नेताओं की मतदान करवाने में अहम भूमिका रही।

रैलीनिकाल कर मनाया जश्न : एबीवीपीकार्यकर्ताओं ने कॉलेज के बाहर शनि मंदिर के पास खड़े कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी के साथ छात्र नेता भाजपा पार्षद नरेश कन्नौजिया को अपने कंधे पर उठा लिया। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने कॉलेज रोड से चांग गेट, मिशन ग्राउंड, भगत चौराहा होते हुए मारवाड़ी नोहरे तक रैली निकाल कर जश्न मनाया।

फोटो : अमित सारस्वत
student election vardhman
वर्द्धमान कॉलेज में नैनी अध्यक्ष

श्रीवर्द्धमानकन्या महाविद्यालय में हुए छात्रा संघ चुनाव में नैनी ने खुशी कर्नावट को 18 मतों से हराकर अध्यक्ष की सीट पर कब्जा जमाया। छात्रा संघ चुनाव में अंकिता दगदी उपाध्यक्ष, शिखा अरोडा महासचिव और संयुक्त सचिव पद राजनंदिनी रही। कॉलेज में कुल 536 मतदाओं में से 391 मतदाओं ने अपने मत का प्रयोग किया। चुनाव में वोटिंग प्रतिशत 72.94 प्रतिशत रहा जो पिछली बार की तुलना में 15.98 प्रतिशत अधिक रहा। चुनाव संयोजिका डॉ. नीरजा उपाध्याय ने बताया कि उपाध्यक्ष अंकिता दगदी ने पूनम शर्मा को हराया, महासचिव शिखा अरोडा ने श्वेता शर्मा को और संयुक्त सचिव राजनंदिनी ने श्वेता गंगवानी को शिकस्त दी। इसके साथ ही कोमल अजमेरा, सुरभि गाेयल, मीनल सोनी और कृतिका सिंह कक्षा प्रतिनिधि के रूप में चुनी गई।

पुलिसने लाठियां भांज कर खदेड़ा : एसडीकाॉलेज के बाहर तैनात पुलिस अधिकारियों को रैली निकालने की जानकारी मिलने पर सिटी थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह नेगी जवाजा थाना प्रभारी पारसमल के नेतृत्व में पुलिस टीम ने रैली का पीछा कर भगत चौराहा के पास कार्यकर्ताओं को लाठियां भांज कर खदेड़ा। इस दौरान वाहन टकराने से कुछ कार्यकर्ता चोटिल भी हो गए। इसके बाद मारवाड़ी नोहरे में चुनाव कार्यालय पर एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने जीत का जश्न मनाया।

डीएवीकॉलेज में गायत्री साहू अध्यक्ष

दयानंदआर्य बालिका महाविद्यालय में आयोजित छात्रासंघ चुनाव में गायत्री देवी साहू को अध्यक्ष चुना गया। गायत्री देवी ने 166 मत हासिल कर अपने निकटतम प्रतिद्वंदी को 88 मतों से पराजित किया। कविता भट्ट उपाध्यक्ष, हर्षा सैनी महासचिव और विजय लक्ष्मी कुमारी सयुंक्त सचिव चुनी गई। दिव्या, किरण साहू, घनश्यामा सोनी, नेहा सोनी, रेखा वर्मा, सोनू शर्मा, भावना मित्तल, खुशबू बोहरा, मनीषा शर्मा, वंदना सैन, हर्षा सैनी, कविता भट्ट, मिनाक्षी, पुष्पा साहू, विमला मेघवाल, काजल शर्मा, शालू राठौड़, हीना खत्री, सपना पमनानी, ईरा शर्मा और शिविका गोयल को कक्षा प्रतिनिधि चुना गया।

भास्कर न्यूज|ब्यावर

सनातनधर्म राजकीय महाविद्यालय में हुए छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने लगातार दूसरी बार पूरे पैनल पर कब्जा जमाया। चुनाव में एनएसयूआई का सूपड़ा साफ हो गया। उसके दो प्रत्याशी तो तीसरे पायदान पर रहे। छात्रसंघ चुनाव में इस बार त्रिकोणीय संघर्ष था। एबीवीपी और एनएसयूआई के अलावा एसडब्लयूओ ने भी दोनों दलों को कड़ी टक्कर दी। कॉलेज प्रिंसीपल नलिनी यादव ने विजेताओं को पद गोपनीयता की शपथ दिलाई।

जानकारी के अनुसार अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के प्रत्याशी गौरव जैन ने एनएसयूआई के कमलेश नैणिवाल को 307 मतों से पराजित किया। जैन को 911, नैणिवाल को 604 और एसडब्ल्यूओ के सहदेव चौधरी को 371 मत मिले। उपाध्यक्ष पद पर एबीवीपी के कुलदीप सिंह चीता ने एसडब्ल्यूओ के अनिल सीरवी को 554 मतों से हराया। एनएसयूआई के राजेंद्र चौहान को 383 वोट निर्दलीय उम्मीदवार जितेंद्र पटेल को महज 47 वाेट ही मिले। महासचिव पद पर एबीवीपी के प्रकाश चंद मेहरा ने एनएसयूआई के कैलाश लामरोड को 530 मतों से शिकस्त दी। संयुक्त सचिव पद पर एबीवीपी के जयप्रकाश जांगिड़ ने 985 वोट प्राप्त कर एसडब्ल्यूओ की सीमा रावत को 484 मतों से हराया। एनएसयूआई के सुरेश सिंह चारण को 360 वोट मिले।

53प्रतिशत रहा मतदान प्रतिशत…

एसडीकॉलेज में इस बार कुल 3 हजार 742 मतदाताओं को मतदान करना था। इनमें से महज 1 हजार 987 छात्र छात्राओं ने ही मतदान में भाग लिया। कॉलेज परिसर में कड़े सुरक्षा प्रबंधन के बीच मतदान प्रक्रिया सुबह 8 बजे प्रारंभ हुई। दोपहर 2 बजे मतगणना प्रारंभ हुई जो शाम 4.30 बजे तक जारी रही। कॉलेज प्राचार्य नलिनी यादव और मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. पुखराज देपाल एवं अन्य अधिकारियों ने छात्र संघ चुनाव परिणाम की घोषणा की। इस बार मतदान का प्रतिशत 53.09 रहा। जो पिछली बार के मुकाबले करीब 8 प्रतिशत ज्यादा है।

100से ज्यादा मतपत्र खारिज…

चुनावमें मतदान प्रतिशत पिछली बार के मुकाबले ज्यादा रहा। लेकिन चारों पदों के उम्मीदवारों को मिले कुल मतों में से 100 से ज्यादा मतपत्र खारिज हो गए। कॉलेज प्रबंधन के अनुसार अध्यक्ष पद के लिए पड़े कुल 1987 वोट में से 101 मतपत्र खारिज हुए। इसी प्रकार उपाध्यक्ष पद के लिए 135 वोट खारिज हुए। जबकि महासचिव पद के 152 तथा संयुक्त सचिव पद के लिए 141 मत खारिज किए गए।एबीवीपी के प्रत्याशियों की जीत की घोषणा के साथ ही एएसपी जय यादव के नेतृत्व में सिटी थाना प्रभारी सतेंद्र सिंह नेगी, सदर थाना प्रभारी अनूप सिंह, जवाजा थाना प्रभारी पारसमल, मसूदा थाना प्रभारी भवानी सिंह समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में सभी निर्वाचित पदाधिकारियों को सुरक्षा के बीच घर पहुंचाया गया। पुलिस ने विजयी जुलूस निकालने पर भी रोक लगा दी थी।

छात्रनेताओं ने झोंकी ताकत…

कॉलेजके बाहर चुनावी माहौल परवान पर रहा। एबीवीपी के जिला संगठन मंत्री योगेश दुबे के साथ ही छात्र नेता एवं भाजपा पार्षद नरेश कन्नोजिया, सहजिला प्रमुख विवेक दाधीच, पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह रावत, जिला सह संयोजक भरत मंगल, रवि टांक, गणपत सिंह रावत समेत एबीवीपी के अन्य छात्र नेताओं की मतदान करवाने में अहम भूमिका रही।

रैलीनिकाल कर मनाया जश्न : एबीवीपीकार्यकर्ताओं ने कॉलेज के बाहर शनि मंदिर के पास खड़े कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी के साथ छात्र नेता भाजपा पार्षद नरेश कन्नौजिया को अपने कंधे पर उठा लिया। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने कॉलेज रोड से चांग गेट, मिशन ग्राउंड, भगत चौराहा होते हुए मारवाड़ी नोहरे तक रैली निकाल कर जश्न मनाया।

एसडीएम, तहसीलदार और अन्य अफसरों ने भी लिया जायजा।

विद्यार्थी परिषद ने दोहराया जीत का इतिहास विद्यार्थी परिषद ने दोहराया जीत का इतिहास

…और हार पर छलक पड़े आंसू

छात्रसंघचुनाव परिणाम घाेषित होते ही एनएसयूआई के अध्यक्ष पद के प्रत्याशी कमलेश नैणिवाल के हार के बाद आंखों से आंसू छलक पडे़। ये देखकर एबीवीपी के विजयी प्रत्याशी गौरव जैन ने आगे बढ़कर कमलेश को गले लगाकर सांत्वना दी। संयुक्त सचिव पद की दावेदार एसडब्ल्यूओ की सीमा रावत भी निर्णय आने के बाद भावुक हो गई।

Categories: Beawar, Breaking News

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

eight − three =

*