राजस्थान के स्कूलों की ऊंची छलांग, स्वच्छता में देश में तीसरे स्थान पर

राजस्थान के स्कूलों की ऊंची छलांग, स्वच्छता में देश में तीसरे स्थान पर
राजस्थान के स्कूलों की ऊंची छलांग, स्वच्छता में देश में तीसरे स्थान पर 

जयपुर, 25 अगस्त।  केन्द्र सरकार के स्वच्छ भारत अभियान के तहत राजस्थान के स्कूलों ने ऊंची छलांग लगायी है। ‘स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2016-17’ पहल के अंतर्गत राजस्थान का देश के सर्वोच्च तीन राज्यों में स्थान बना है। भारत सरकार के ‘स्वच्छ विद्यालय’ राष्ट्रीय पुरस्कार के तहत देशभर में राजस्थान का तमिलनाडू और आंध्रप्रदेश के बाद तीसरा स्थान रहा है।

शिक्षा राज्य मंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि राजस्थान इस उपलब्धि से अपने को गौरवान्वित महसूस करता है । स्वच्छता में निरंतर आगे भी ऎसे ही प्रयास जारी रखे जाएंगे। उन्होंने स्वच्छ विद्यालयों में देशभर में राजस्थान की इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर प्रसन्नता जताते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर ‘स्वच्छ विद्यालय’ रैंकिंग में राजस्थान का यह स्थान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के ‘स्वच्छ भारत’ अभियान की ‘स्वच्छ विद्यालय’ पहल की बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे के कुशल नेतृत्व को श्रेय देते हुए टीम एजुकेशन, सभी विद्यालयों के संस्था प्रधानों को बधाई दी हैं।
श्री देवनानी ने बताया कि ‘स्वच्छ विद्यालय’ पुरस्कार के अंतर्गत देश के विभिन्न राज्यों के 643 विद्यालयों को पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था। इनमें से बाद में विभिन्न मानंदडों के आधार पर केवल 172 राजकीय विद्यालयों को ही राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार के लिए चयनित किया गया। उन्होंने बताया कि यह महत्वपूर्ण है कि देशभर में राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार के लिए चुने गए 172 विद्यालयों में भी राजस्थान के 15 विद्यालयों को स्वच्छता के विभिन्न मानदंडों पर सर्वोत्कृष्ट मानते हुए उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत करने का निर्णय भारत सरकार ने लिया है।
श्री देवनानी ने बताया कि राजस्थान के चयन किए गए इन 15 राजकीय विद्यालयों को भारत सरकार द्वारा प्रत्येक को 50-50 हजार रूपये की नकद राशि तथा प्रशस्ति पत्र देकर आगामी 1 सितम्बर को दिल्ली के केन्द्रीय विद्यालय नम्बर 2 के डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ऑडिटोरियम में पुरस्कृत किया जाएगा।
राष्ट्रीय ‘स्वच्छ विद्यालय’ पुरस्कार के तहत राष्ट्रीय स्तर पर देशभर के विभिन्न राज्यों के विद्यालयो में स्वच्छ पेयजल, शौचालय, साबुन सहित हाथ धोने की समुचित व्यवस्था, स्वच्छता के अंतर्गत विद्यालयों की समुचित रख-रखाव व्यवस्था, स्वच्छता के अंतर्गत विद्यालय में अध्ययनरत बच्चों की आदतों में आए सकारात्मक बदलाव आदि मानदंडों पर पुरस्कार पात्रता के लिए नामांकित किया गया था। इसके अंतर्गत जहां 90 से 100 प्रतिशत तक स्वच्छता पाई गई उन विद्यालयों को उत्कृष्ट मानते हुए ‘ग्रीन’, जहां 75 से 89 प्रतिशत तक स्वच्छता पाई गई उन्हें बहुत अच्छी श्रेणी का मानते हुए ‘ब्ल्यू’ तथा जहां 51 प्रतिशत से 74 प्रतिशत तक स्वच्छता अनुभूत की गई उन्हें अच्छे की श्रेणी में माना गया।
शिक्षा राज्य मंत्री ने बताया कि यह और भी महत्वपूर्ण है कि भारत सरकार ने राजस्थान के 201 विद्यालयों को ‘ग्रीन’ और ‘ब्ल्यू’ श्रेणी में रेंकिग देते हुए उन्हें स्वच्छता में उत्कृष्ट और बहुत अच्छा माना है।
अजमेर शहर में होंगे अरबों रूपए के विकास कार्य
शिक्षा राज्य मंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने  कहा कि मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे के नेतृत्व में राज्य सरकार शहरों में सड़क, पानी और बिजली सहित अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए गम्भीरता से कार्य कर रही है। अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र में पिछले साढ़े तीन  सालों में अरबों रूपए के विकास कार्य हुए हैं। स्मार्ट सिटी व अन्य योजनाओं के तहत 2600 करोड़ रूपए के विकास कार्य करवाए जाएंगे। विकास की यह गति आगे भी बरकरार रहेगी।
शिक्षा राज्यमंत्री श्री देवनानी ने शुक्रवार को रामदेव नगर माकड़वाली रोड क्षेत्र में 57 लाख रूपए लागत से मिसिंग लिंक सड़क के निर्माण कार्य का शुभारम्भ किया। यहां क्षेत्रवासियों द्वारा उनका अभिनन्दन भी किया गया। श्री देवनानी ने कहा कि सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा मिसिंग लिंक योजना के तहत इस सड़क का निर्माण करवाया जा रहा है। इससे क्षेत्र की सड़के एवं यातायात  सुगम होगा। उन्होंने कहा कि विकास निरन्तर प्रक्रिया है। कई अन्य सड़कों का भी सुधार किया जा रहा है।
श्री देवनानी ने कहा कि सरकार जनता की आवश्यकताओं को पूर्ण करने के लिए प्रतिज्ञाबद्ध है। सब मिलकर ही स्वच्छ सुन्दर और विकसित राज्य का निर्माण कर रहे है। जिसमें अजमेर का योगदान महत्वपूर्ण होगा। उन्होंने सरकार द्वारा अजमेर में किए गए विकास कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि विधानसभा क्षेत्र अजमेर उत्तर में अरबों रूपए के कार्य हुए हैं। आगामी दिनो में अजमेर में 26 अरब की राशि से स्मार्ट सिटी व अन्य योजनाओं के तहत कार्य करवाए जाएंगे। आगामी 50 वर्षों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखकर विकास कार्यों की योजना बनाई जा रही है।
इस अवसर पर जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।
Categories: Rajasthan, Uncategorized

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

3 × 3 =

*