अंधेरी जिंदगियां रोशन करेंगी संभव की आंखें

अंधेरी जिंदगियां रोशन करेंगी संभव की आंखें

यावर| अंधेरीजिंदगियों को रोशन करने के लिए भास्कर परिवार की मुहिम रंग दिखाने लगी है। रविवार देर रात एक हादसे में काल का ग्रास बने एक युवक के परिजनों ने जैन सोशल ग्रुप नवकार की प्रेरणा से नेत्रदान कर दो अंधेरी जिंदगियों को रोशन करने के लिए पहल की है। सचिव राजीव रांका ने बताया कि संस्था के वरिष्ठ सदस्यों पार्षद मनोज बाबेल, गौरव नाबेडा, मनीष भंसाली, सिद्धार्थ जैन, हेमंत रांका, राहुल कोठारी और राजीव रांका द्वारा मृतक संभव के पिता ज्ञानचंद मुणोत को नेत्रदान के लिए प्रेरित किया गया।

जैन सोश्यल ग्रुप नवकार की प्रेरणा से प्रेरित होकर मुणोत परिवार ने संभव के परिजनों की सहमति मिलने पर अजमेर से आई बैंक के डॉक्टर भरत ने संभव की आंखों के कॉर्निया सुरक्षित निकाल कर रख लिए। संभव मुणोत की आंखों के कॉर्निया जल्द ही दो बेरंग जिंदगियों में सतरंगी रोशनी भर सकेंगे। इस दौरान पारसमल पीपाड़ा, गौतम चंद भंसाली और कपिल कोठारी मौजूद रहे। संस्था द्वारा सेवा कार्यों के तहत मंगलवार को गांधी आराधना भवन में सिलाई मशीन का वितरण किया जाएगा।

संभव मुणोत

Categories: Beawar, Latest Update

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

one × four =

*