राजस्थान की आम जनता का दुर्भाग्य रोडवेज की हड़ताल

राजस्थान की आम जनता का दुर्भाग्य रोडवेज की हड़ताल

BDN
राजस्थान की आम जनता का दुर्भाग्य रोडवेज की हड़ताल
18/19 दिनों से चली आ रही रोडवेज हड़ताल से पूरे राजस्थान की आम जनता परेशान हो चुकी है ।
लेकिन मुख्य मंत्री गौरव यात्रा और मोदी यात्रा में मस्त है ।
लगभग 19 दिनों से राज्य की आम जनता अपने सफर के लिए प्राइवेट बसों, अवैध टेक्सियों के भरोसे अपनी जान जोखम में डाल कर यात्रा कर रही है, किन्तु महारानी को इससे कोई सरोकार नही ओर ना ही इससे होने वाली परेशानी से कोई मतलब, ना ही सरकार द्वारा कोई वैकल्पिक व्यवस्था की गई और ना ही हड़ताल तोड़ने ओर विफल करने के लिए कोइ सकारात्मक प्रयास किये जा रहे है ।जनता यह तो समझ चुकी है कि अगले दी माह बाद चुनाव है इसलिए इन हड़ताली कर्मियों के खिलाफ कोई कठोर कदम तो उठा नही सकती ।
लेकिन लगता है आम नागरिक को सरकार के खिलाफ अपना गुस्सा निकालने के लिए यह एक मौका दे रहा है चुनाव ।
लगता है कि आने वाले कुछ दिनों तक आम नागरिकों को अभी और परेशान होना पडेगा । मासिक पास वालो के पैसे भी डूबने की कगार पर है ।
सबसे बड़ी बात यह कि 19 दिनों से चल रही रोडवेज की इस हड़ताल से आम जनता को हो रही परेशानी को मीडिया में प्रचारित ना हो इसके लिए ऐसा लगता है कि मैनेज मेन्ट तगड़ा किया हुवा है ।
बात बात पर जनता के हितों की आवाज उठाने वाला मीडिया ना जाने कहा सो गया, ताज्जुब की बात है कि 19 दिन से हो रही जनता की परेशानी मीडिया को नही दिखी यदि मीडिया आम जनता को इस हड़ताल से होने वाली परेशानी को लगातार दिखाता तो सरकार पर हड़ताल तुड़वाने का दबाव पड़ता ओर हो सकता है कि काफी पहले ही यह हड़ताल समाप्त हो जाती ।
हड़ताली कर्मियो से भी निवेदन है कि आम ओर गरीब जनता को होने वाली परेशानियों पर विचार कर इस हड़ताल को स्थगित कर दे ओर चुनाव के बाद आने वाली नई सरकार के सामने अपनी समस्या रख कर अपनी मांगों के समाधान के लिए प्रयास करे ।
आम जनता तो बस बेबस है?
हेमेन्द्र सोनी @ BDN जिला ब्यावर

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

8 + 5 =

*