क्या विपक्ष वाइब्रेट से एक्टिव मोड़ में आ पायेगा

क्या विपक्ष वाइब्रेट से एक्टिव मोड़ में आ पायेगा

*BDN*
*क्या विपक्ष वाइब्रेट से एक्टिव मोड़ में आ पायेगा*
राजनीति में कितने पापड़ बेलने पड़ते है । यह तो राजनीति में जाने के बाद ही पता लगता है । भारत मे BJP ने आज जो मुकाम पाया है वह उसकी पिछले कई वर्षों की यात्रा का प्रतिफल है, जिसमे दीपक, हलधर किसान, कमल का फूल जैसी यात्रा ओर कई असफलताओ की मिली जुली कहानी है ।
जिसमे कई नए लोगो ने अपना स्थान बनाया और कई बड़ी हस्तियों को वीराने में जाते हुए देखा है ।
आज की वर्तमान स्थिति में भाजपा पूरे भारत मे एक छत्र राज करने में सक्षम है ।
जिसने कभी 2 सीटो से भी विपक्ष की भूमिका निभाई थी ।
*इसे कहते है राजनीति की उठा पटक ओर जोर आजमाइश ।*
इसी प्रकार देश की आजादी के बाद से ही कांग्रेस ने पूरे देश मे शासन किया और लंबे समय तक किया । लेकिन देश के वर्तमान समय में कांग्रेस की अपनी कमजोरी के कारण ही वो सिमटती जा रही है ।
जो कभी पूरे भारत पर एक छत्र राज करती रही । आज उसकी खुद की स्थिति विकट नजर आ रही है, ओर तो ओर कई जगह विपक्ष की भूमिका भी निभाने में दिक्कत महसूस कर रही है ।
कई दिग्गज नेता अब उम्र के ढलान में फिसल रहे है और नई नस्ल की पौध उनके अनुरूप ओर उस गति से नही पनप रही है जिसके लिए कांग्रेस पहचानी जाती रही है । एक समय था किसी नए कार्यकर्ता या नए चेहरे को भी यदि कांग्रेस का टिकट मिल जाता तो उसकी जीत सुनिश्चित समझी जाती थी ।
लेकिन आज कांग्रेस के बैनर पर टिकट मांगने वाले कि संख्या घटती जा रही है ।
कांग्रेस के नाम में अब पहले वाला पैना पन अब नजर नही आता ।
आज के इस माहौल में यदि कांग्रेस को फिर से अपनी जड़े जमानी है तो उसे निचले स्तर पर संघर्ष करने की जरूरत है । जनता की छोटी छोटी समस्याएं ओर दिक्कतों को सुन कर उसका त्वरित निवारण करने का प्रयास करना होगा ओर उसके समाधान के लिए आगे तक लड़ाई लड़े ओर जनता के मन मे जो नेगेटिव छवि बनी है उसको अपने सेवा कार्य के जरिये पुनः जनता के दिलो में जगह बनाने का प्रयास करना चाहिए ।
जैसा कि सर्व विदित है कि निचले स्तर पर किये जाने वाला प्रयास जनता की दिलो में जगह बनाता है ।
जो अफसर कार्य नही करते है उनके खिलाफ आवाज उठाये ओर उन्हें जो सत्ता के शीर्ष लोगो का जो वरद हस्त मिला हुवा है जिस कारण वो अपने कार्य के प्रति लापरवाह है और पक्षपात पूर्ण निर्णय करते है उनके खिलाफ लिखित में आगे तक कार्यवाही करें और जनता में मेसेज दे कि कांग्रेस आज भी आपके हितो के संरक्षण के लिए कृत संकल्प है ।
आने वाले चुनाव में अभी वक्त है उसके पहले अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए ओर उन्हें सक्रीय करने के लिए अभियान चलाए ओर उनको जोड़ कर उनकी दूरियां कम कर उन्हें कार्य हेतु प्रेरित करे ।
कांग्रेस को यदि पूरे देश मे सक्रिय होना है तो बड़े नेताओं को अपना स्वार्थ त्याग कर जमीनी स्तर पर मेहनत करनी होगी ।
आज वर्तमान सत्ता पक्ष सत्ता के नशे में कार्यकर्तों के जायज ओर छोटे छोटे काम के लिए भी चक्कर लगवाती है ओर इस कारण कार्यकर्ता को अपमानित होना पड़ता है और तो ओर सड़क नाली, अतिक्रमण, बिजली जैसी मूलभूत सुविधाओं तक के लिए गिड़ गिड़ाना पड़ रहा है । मोहल्ले की नालियां ओर सड़क के गढ़े के साथ मुख्य सड़कों का वर्षो से निर्माण ना होना , बजट पास होने के बाद भी लंबे समय तक कार्य ना होना जैसी समस्याओं से पीड़ित है खुद BJP की कार्यकर्ता ।
फोटो खिंचवाने ओर माला पहनने के लोभ में कार्यकर्ताओं की भावनाओ के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है । जो जिदंगी भर दूसरी पार्टी में थे उन धन्ना सेठो को अपने स्वार्थों के लिए पार्टी में उच्च पदों पर बिठाया जा रहा है और सच्चे ओर जमीनी कार्यकर्ताओ का अपमान कर उन्हें आज भी दरिया उठाने को मजबूर किया जा रहा है ।
समय की मांग के अनुरूप कांग्रेस को एक्शन में आने की जरूरत है । यदि कांग्रेस ऐसा कर पाती है तो आने वाले चुनावों में कुछ बेहतर पोजिशन पे आ सकती है अन्यथा आप पार्टी भी मुकाबले में बनी रहने के लिए प्रयास रत है । वो कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा सकती है ।
ऐसा नही है कि BJP के राज से BJP के असंतुष्ट कार्यकर्ताओ ओर जनता की संख्या में वृद्धि ना हुई हो, उसके अपने कारण भी है ।
*हेमेन्द्र सोनी @ BDN जिला ब्यावर*

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

fourteen + 16 =

*