फतेहपुरिया चाैपड़ पर सातों ताजियों का हुआ मिलन

फतेहपुरिया चाैपड़ पर सातों ताजियों का हुआ मिलन

फतेहपुरिया चाैपड़ पर सातों ताजियों का हुआ मिलन
माेहर्रम के मौके पर शुक्रवार को पाली बाजार से चांगगेट की ओर बढ़ते ताजिए का नजारा और मौके पर जमा भीड़।

माेहर्रम की दसवीं तारीख पर पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब के नवासे इमाम हुसैन की शहादत की याद में अकीदतमंदों द्वारा शुक्रवार को ताजियों का जुलूस निकाला गया। अपने-अपने मुकाम से ताजिए रवाना हुए। फतेहपुरिया चाैपड़ पर सातों ताजियों का मिलन हुआ।

हजरत इमाम हुसैन की जंग-ए-कर्बला में हुई शहादत की याद में शुक्रवार को मोहर्रम का जुलूस मातमी माहौल में निकाला गया। इस दौरान पूरा ब्यावर मानो हुसैनी रंग में रंग गया। जुलूस के तहत सातों ताजियों का दोपहर में फतेहपुरिया चौपड़ पर रूहानी मिलन हुआ, तो पूरा माहौल या इमाम, या हुसैन एवं नारा ए तकबीर से गूंज उठा।

जुलूस के दौरान ढोल, ताशों एवं नगाड़ों पर मुस्लिम समाज के युवा मातमी धुन बजाते हुए चल रहे थे। पैगंबर इस्लाम और शहीदे करबला हजरत इमाम हुसैन की याद में शुक्रवार को शहर के विभिन्न सात स्थानों से मातमी जुलूस निकाला गया। दोपहर 3 बजे शहर इमामबाड़े से आए शहर ताजिया, मेहंदी चौक से कल्लन खां कागदी, छीपा मोहल्ला से छीपान ताजिया, कसाबान मोहल्ले से कुरैशियान ताजिया, नला मोहल्ला से मेवाफरोश का ताजिया, छावनी का ताजिया तथा बुंदुशाह के ताजियों का फतहपुरिया चौपड़ पर रूहानी मिलन हुआ।

ब्यावर. फतेहपुरिया चौपड़ पर ताजियों का बड़ा मिलाप।

जुलूस के रूप में रवाना हुए सभी ताजिए

सतरंगी ताजियों का मिलन अपने आप में अनोखा आभास करवा रहा था। मिलाप के दौरान पूरा माहौल नारो से गूंज उठा। उसके बाद सभी ताजिए एक साथ जुलूस के रूप में रवाना हुए। मोहर्रम के दौरान शहर में जगह-जगह शरबत, लब्बेशीरी, चावल, हलीम, चाय आदि की शिरनी का वितरण किया गया। लोगों ने ताजियों पर सेवरे आदि चढ़ाकर मन्नत भी मांगी। जुलूस फतहपुरिया चौपड़ से सरावगी मोहल्ला, पिनारान मार्ग, पंडित मार्केट, लोहरान चौपड़, पाली बाजार, चांग गेट होता हुआ देर शाम नून्द्री मेन्द्रातान स्थित कर्बला मैदान पहुंचा, जहां सभी ताजियों को मातमी माहौल के साथ सैराब किया गया। जुलूस के दौरान युवाओं ने अखाड़ा खेला एवं अनेक हैरतअंगेज करतब दिखाए। साथ ही ढोल ताशों पर मातमी धुन बजाकर इमाम हुसैन की शहादत को याद किया। ताजियों में आस्था मुस्लिम धर्मावलंबियों में ही नहीं वरन् हिन्दू एवं अन्य समुदाय में भी देखने को मिली। अलग-अलग मजहबों के लोगों ने ताजियों पर सेहरा, मोली, तबर्रुक चढ़ाया तथा ताजियों के नीचे से निकलकर दुआ मांगी। ताजिए निर्धारित मार्ग से होते हुए लौहारान चौपड़ पहुंचे। चांगगेट पर औकाफ कमेटी जामा मस्जिद की जानिब से चांगगेट पर एसडीएम सुरेश चौधरी, पुलिस उपाधीक्षक हीरालाल सैनी, सिटी थाना प्रभारी रविंद्र प्रताप, सदर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह जोधा, आयुक्त नगर परिषद सुखराम खोखर, नायब तहसीलदार शैलेंद्र चौधरी, रमेश यादव एवं अन्य की आयोजक औकाफ कमेटी जामा मस्जिद सदर हाजी मोहम्मद हनीफ, शब्बीर अहमद मेवाफरोश, सचिव शब्बीर अहमद, पार्षद मोहम्मद हारून छीपा, रफीक छीपा, पप्पू पहलवान समेत अन्य मौजूद थे।

शांति व्यवस्था की समझाइश आई काम

गत वर्ष छावनी में हुए तनाव और विवाद को देखते हुए इस बार दोनों समुदायों की ओर से शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए पहल की गई। दोनों समुदायों की ओर से मीटिंग कर तनाव को टालने के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। वहीं प्रशासन ने भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। इसी का असर रहा कि हर बार तनाव और विवाद के बीच निकलने वाला ताजिए इस बार बिल्कुल शांति से निकल गए। इसमें मोहर्रम इंतेजामिया कमेटी अध्यक्ष पप्पू पहलवान, समीर खां, नफीस गौरी, सलीम पठान, अहसान चिंगारी, हनीफ रंगरेज, नवाब कुरैशी, इंतियाज अली, चांद कुरैशी एवं अन्य का योगदान रहा। छावनी पलटन ताजिए के शांतिपूर्ण निकलने पर कमेटी के अध्यक्ष पप्पू पहलवान ने छावनी के माली समाज और ग्वाला समाज के पदाधिकारियों के सहयोग के लिए आभार जताया।

ताजियों के आगे युवाओं ने दिखाए करतब

मोहर्रम के जुलूस के दौरान शुक्रवार को ताजिओं के आगे चल रहे युवाओं ने कई करतब दिखाए। इस दौरान कुछ युवा मामूली रूप से जख्मी भी हुए। जुलूस में युवाओं ने हथियारों से करतब दिखाए और लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया।

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

4 × 5 =

*