सीसीआई ने 3 साल में कंपनियों पर ठोका 8.66 अरब का जुर्माना

सीसीआई ने 3 साल में कंपनियों पर ठोका 8.66 अरब का जुर्माना

नई दिल्ली  भारतीय प्रतिस्पर्द्धा आयोग (सीसीआई) ने पिछले तीन वित्त वर्ष से अधिक समय में प्रतिस्पद्र्धा नियमों का उल्लंघन करने वाली विभिन्न क्षेत्रों की 153 कंपनियों पर कुल आठ अरब 66 करोड़ 43 लाख 87 हजार 290 रुपए का जुर्माना ठोका है।

कंपनी मामलो के मंत्री अरुण जेटली ने शुक्रवार को लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि वित्त वर्ष 2012-13 से वित्त वर्ष 2014-15 और चालू वित्त वर्ष में 30 जून तक सीसीआई ने प्रतिस्पद्र्धा अधिनियम 2002 के प्रावधानों के उल्लंघन मामले में कुल 366 कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जिसमें से 255 मामलों का निपटान किया जा चुका है।

उनमें से 223 मामलो में कंपनियों को दोषमुक्त कर दिया गया है। शेष 32 मामलों में 153 कंपनियों पर कुल आठ अरब 66 करोड़ 43 लाख 87 हजार 290 रुपए का जुर्माना ठोका गया है। जेटली ने बताया कि आलोच्य अवधि में कुल जुर्माना राशि में से अब तक दो करोड़ 24 लाख 22 हजार 333 रुपए की वसूली हो चुकी है और एक अरब 21 करोड़ 85 लाख आठ हजार 452 रुपए के जुर्माने वाले मामलो पर प्रतिस्पद्र्धा अपीलीय न्यायाधिकरण ने रोक लगा दी है। शेष सात अरब 42 करोड़ 34 लाख 56 हजार 505 रुपए जुर्माना अभी तक वसूला जाना है।

उन्होंने बताया कि अभी तक 31 कंपनियों ने जुर्माना अदा नहीं किया है। इनमें से सबसे अधिक दो अरब 51 करोड़ सात लाख रुपए का जुर्माना वित्तीय क्षेत्र की सरकारी कंपनी न्यू इंडिया इंश्योरेंस कंपनी पर ठोका गया। इसके अलावा नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड पर एक अरब 62 करोड़ 80 लाख, यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस लिमिटेड एक अरब 56 करोड़ 62 लाख रुपए, ओरिएंटल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड एक अरब 56 लाख रुपए जुर्माना लगाया गया।

 Competition Commission of India

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

eighteen − 18 =

*