‘आयुष्मान भारत’ को कैबिनेट की मंजूरी, 10 करोड़ फैमिली को मिलेगा 5 लाख का फ्री हैल्थ इन्श्योरेंस

‘आयुष्मान भारत’ को कैबिनेट की मंजूरी, 10 करोड़ फैमिली को मिलेगा 5 लाख का फ्री हैल्थ इन्श्योरेंस

नई दिल्ली. कैबिनेट ने बुधवार को सभी को हैल्थ इन्श्योरेंस उपलब्ध कराने के उद्देश्य से नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन को मंजूरी दे दी। इसे ‘आयुष्मान भारत’ नाम दिया गया है। इसका फायदा देश के 10 करोड़ गरीब परिवारों को मिलेगा। इसके लिए हैल्थ इन्श्योरेंस स्कीम को ठीक से लागू करने के लिए एक काउंसिल का गठन किया गया है, जिसकी अध्यक्षता हैल्थ मिनिस्टर करेंगे।

 

सालाना मिलेगा 5 लाख रुपए का कवर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट मंत्रिमंडल ने एक नई केंद्र प्रायोजित आयुष्मान भारत-नेशनल हैल्थ प्रोटेक्शन मिशन (एबी-एनएचपीएम) की लॉन्चिंग को मंजूरी दे दी। इस स्कीम से हर परिवार को सालाना 5 लाख रुपए का कवर मिलेगा।

 

10 करोड़ फैमिली को होगा फायदा

प्रस्तावित स्कीम का टारगेट एसईसीसी डाटाबेस के आधार पर गरीब और निचले तबके में आने वाले 10 करोड़ से ज्यादा परिवारों को मिलेगा। एबी-एनएचपीएम में पहले से ही चल रहीं केंद्र प्रायोजित स्कीम्स राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (आरएसबीवाई) और सीनियर सिटीजन हैल्थ इन्श्योरेंस स्कीम (एससीएचआईएस) समाहित हो जाएंगी।

 

स्कीम में मिलेंगी ये सुविधाएं

-इसके अंतर्गत प्रति परिवार सालाना 5 लाख रुपए तक का कवर मिलेगा। इसमें लगभग सभी गंभीर बीमारियों का इलाज कवर होगा।

-इसके  अलावा कोई भी व्यक्ति (विशेष रूप से महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग) इलाज से वंचित न रह जाए, इसके लिए स्कीम में फैमिली साइज और उम्र पर कोई सीमा नहीं लगाई गई है।

-इस स्कीम में हॉस्पिटलाइजेशन से पहले और बाद के खर्च को भी शामिल किया गया है। हर बार हॉस्पिटलाइजेशन के लिए ट्रांसपोर्टेशन अलाउंस का भी उल्लेख किया गया है, जिसका भुगतान लाभार्थी को किया जाएगा।

 

इन परिवारों को ही मिलेगा फायदा

इस स्‍कीम का फायदा चुनी हुई कैटेगरी के लोगों को ही मिलेगा। इसके चयन का मुख्‍य आधार सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना -2011 के आधार पर मिलेगा। जो भी परिवार इन कैटेगरी को पूरा करेंगे उनको इस स्‍कीम का लाभ मिलेगा।

-इनमें एक कमरे का कच्‍चा मकान, खपरैल में रहने वाली फैमली या ऐसी फैमली जिनमें 16 से 59 वर्ष के बीच की उम्र का कोई अडल्‍ट सदस्‍य न हो या महिला मुखिया वाले परिवार जिनमें 16 से 59 वर्ष के बीच का कोई पुरुष न हो ऐसे परिवार ही इसमें शामिल होंगे।

-ऐसे परिवार जिनमें विकलांग सदस्‍य हों और उसकी देखरेख करने वाला कोई अडल्‍ट सदस्‍य परिवार में न हो।

-एससी और एसटी के अलावा ऐसे परिवार जिनके पास जमीन न हो और उनकी आमदनी कैजुअल मजदूरी हो। जिन परिवारों के पास छत न हो और कानूनी रूप से बंधुआ मजदूरी से मुक्‍त कराए गए हों।

-वहीं शहरी क्षेत्रों के लिए 11 कैटेगरी के लोग ही इस स्‍कीम का फायदा ले सकेंगे।

 

किन अस्पतालों में होगा इलाज

इस स्कीम का फायदा देश भर में लिया जा सकेगा। साथ ही स्कीम के तहत पैनल में शामिल देश के किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में कैशलेस इलाज कराया जा सकेगा।

राज्यों के सभी सरकारी अस्पताल इस स्कीम में शामिल माने जाएंगे। इसके अलावा इम्प्लाई स्टेट इन्श्योरेंस कॉर्पोरेशन (ईएसआईसी) से संबंधित अस्पतालों को बेड ऑक्यूपैंसी रेश्यो के पैरामीटर के आधार पर इसके पैनल में शामिल किया जा सकता है।

प्राइवेट अस्पतालों के मामले में निश्चित क्राइटीरिया के आधार ऑनलाइन इम्पैनल्ड किया जाएगा।

About Author

Hemendra Soni

M.D. & Chief Editor of BeawarDailyNews.com

Write a Comment

Your e-mail address will not be published.
Required fields are marked*

3 × 2 =

*